1 किलो 100 ग्राम वजन का था दुनिया का सबसे पहला मोबाइल फोन

दुनिया में आज के समय में कई तकीनीकी आ चुकी हैं, अगर हम पुराने जमाने की तकनीकी की बात करें तो पहले की और अब की तकनीकी में काफी बदलाव आ चुका है। आज की तकनीकी काफी एडवांस हो चुकी है। आज हम यहां दुनिया में सबसे पहले जिस मोबाइल फोन का आविष्कार हुआ उसकी तस्वीरों को दिखाने जा रहे हैं।

दुनिया का सबसे पहला मोबाईल फोन मोटोरोला कंपनी ने 3 अप्रैल 1973 को बनाया। सबसे पहले इस फोन की कीमत लगभग 2 लाख रूपए थी, जिसकी बिक्री सबसे पहले अमेरिका में शुरू हुई। इस मोटोरोला के सबसे पहले फोन का वजन बाजार में उतारने से पहले 794 ग्राम कम किया गया लेकिन फिर भी यह बाजार में (1983) उतरने पर 1 किलो 100 ग्राम का था और इसकी बैटरी एक बार चार्ज करने के बाद 35 मिनट तक बात करा सकती थी।

आज से 47 साल पहले या 5 दशक पहले दुनिया का सबसे पहला मोबाईल फोन 3 अप्रैल 1973 को मोटोरोला के इंजिनियर मार्टिन कपूर ने अपने प्रतिद्वदी कंपनी के एक कर्मचारी डा. जोएल एस. एंगेल से दुनिया में सबसे पहले फोन पर बातचीत की शुरूआत की। पर यह बाजार में 10 साल बाद 1983 को आया। मोटोरोला के इस सबसे पहले फोन का नाम डायना टीएसी 8000X था। यह साल 1983 तक कमर्शियल नहीं मिलता था।

Loading...
loading...
Comments