बहुत फायदेमंद मछली का तेल

महिलाओं में स्तन कैंसर एक गंभीर समस्या है। स्तन कैंसर महिलाओं को ज्यादा तर 40 साल के बाद होता है। स्तन कैंसर की प्रारंभिक अवस्था में वक्ष में एक छोटी सी गांठ होती है। यह धीरे-धीरे बढ़ती जाती है। स्तन कैंसर से पीडित महिलाओं को टैमोक्सिफेन नामकी दवा दी जाती है।हाल ही में हुए रिसर्च में पता चला है कि स्तन कैंसर में मछली के तेल का सेवन काफी फायदेमंद होता है।

◆ ओमेग-3 फैटी एसिड

मछली के तेल में ओमेग-3 फैटी एसिड होता है जिसके सेवन से टैमोक्सिफेन दवा से ज्यादा प्रभावी होता है और मछली का सेवन स्तन कैंसर मरीजों के लिए सुरिक्षत और फायदेमंद होता है।

◆ रुक जाता है ट्यूमर का विकास

स्तन कैंसर में टैमोक्सिफेन दवा के साथ मछली का तेल खाने से महिलाओं में ट्यूमर्स का विकास नहीं होता है।

◆ इम्यून सिस्टम भी बनता है मजबूत

स्तन कैंसर पीडि़त महिलाओं को यदि टैमोक्सिफेन दवा दी जा रही है, तो साथ में उन्हें ओमेगा-3 फैटी एसिड वाला भोजन भी कराएं। इससे दवा और प्रभावी हो जाती है तथा ट्यूमर का विकास रूक जाता है। मछली के तेल वाला खाना जीन की गतिविधियों को और सक्रिय बनाती है, जिससे इम्यून सिस्टम भी मजबूत होता है। इतना ही नहीं, मछली के सेवन से एलर्जी, जलन आदि क समस्या भी उत्पन्न नहीं होती है।

Loading...
loading...
Comments