बोलने का अंदाज बन सकता है आपका करियर

कुछ बोलकर लोगों का दिल जीतना, उनका मनोरंजन करना अथवा किसी कार्यक्रम का संचालन करना आसान नहीं होता। ऐसा वही कर सकते हैं, जो बोलने में परफेक्ट हों और हजारों लोगों के सामने भी कुछ कहने में उन्हें कोई हिचकिचाहट न होती हो। वर्तमान माहौल में जिस तरह विभिन्न आयोजन हो रहे हैं, जैसे प्रोडक्ट लॉन्च, फैशन शो, कॉलेज फंक्शन, धार्मिक आयोजन, सांस्कृतिक आयोजन आदि, उससे एंकर पर्सन के लिए अवसरों में भी इजाफा हुआ है। चौनलों में विभिन्न कार्यक्रमों के लिए भी एंकरिंग प्रोफेशनल्स की जरूरत होती है।

» कोर्स व शैक्षणिक योग्यता

संस्थानों द्वारा एंकरिंग से संबंधित विभिन्न कोर्स कराए जाते हैं, जो सर्टिफिकेट व डिप्लोमा स्तर के हैं। इन पाठयक्रमों में बोलने के अंदाज, साउंड के उतार-चढ़ाव, कैमरा, लाइट इफेक्ट्स, इंटरव्यू के ढंग तथा अन्य तकनीकी बातों की जानकारी दी जाती है। वैसे तो 12वीं पास विद्यार्थी भी संबंधित पाठ्यक्रमों में एडमिशन ले सकते हैं, पर ग्रेजुएट अभ्यर्थी इस फील्ड की अच्छी समझ विकसित कर सकते हैं। कई जगहों पर जॉब के लिए भी ग्रेजुएशन की मांग की जा सकती है।

» व्यक्तिगत गुण

ऐसे अभ्यर्थियों को बहिर्मुखी और हंसमुख स्वभाव का होना चाहिए। साथ ही उनका स्मार्ट होना भी जरूरी है। भाषा (हिंदी, अंग्रेजी व स्थानीय भाषा) पर कमांड इस प्रोफेशन की अनिवार्य शर्त है। स्क्रिप्ट के अलावा खुद भी तत्काल बोलने की क्षमता उसमें होनी चाहिए। सम-सामयिक घटनाओं की जानकारी तो जरूरी है ही, इसके अलावा किसी बात को मनोरंजक ढंग से पेश करने की समझ भी होनी चाहिए।

» अवसर कहां-कहां

इवेंट मैनेजमेंट के विस्तार के कारण एंकरिंग के क्षेत्र में स्कोप काफी बढ़ा है। इवेंट मैनेजमेंट कंपनियों में अवसर तलाशे जा सकते हैं। लाइव शो के अलावा विभिन्न टीवी प्रोग्राम्स में भी मौके मिलते हैं। प्रोडक्शन कंपनियों को स्मार्ट व फ्रेश एंकर्स की जरूरत निरंतर बनी रहती है। टीवी या रेडियो न्यूज रीडर के रूप में भी अवसर तलाशे जा सकते हैं।

Loading...
loading...
Comments