यहां महिला वर्कर्स की कपड़े उतरवाकर तलाशी लेते है पुरुष

रूस में पन्ना (ऐमरल्ड) खान में काम करने वाली महिलाओं ने शिकायत की है कि काम कर के लौटने से पहले उनके कपड़े उतरवाकर तलाशी ली जाती है। महिला वर्कर्स का कहना है कि तलाशी इसलिए ली जाती है कि कहीं कोई कर्मी बेशकीमती जवाहरात चुरा के न ले जाए लेकिन तलाशी के नाम पर महिलाओं के साथ भद्दा व्यवहार किया जा रहा है। तलाशी लेने वाली भी महिलाएं नहीं बल्कि पुरुष हैं।

इस तलाशी के दौरान महिलाओं को कपड़े उतरवा कर उन्हें ठंडे फर्श पर खड़ा कर दिया जाता है। महिलाओं का आरोप है कि तलाशी करते हुए उनसे अंतरंग सवाल किए जाते हैं। इतना ही नहीं महिला कर्मियों को यह भी धमकी दी जाती है कि अगर उन्होंने इस बारे में शिकायत की तो उन्हें गायनेकॉलिजिकल ऐग्जामिनेशन चेयर तक पर बैठना होगा।

खान में काम करने वाली महिलाओं के एक समूह ने इस बारे में स्थानीय मीडिया को बताया। उन्होंने कहा ‘काम के बीच में भी किसी भी महिला को चेक अप रूम में बुला लिया जाता है और उनके कपड़े उतरवाकर तलाशी ली जाती है। यह एक ठंडा कमरा है, जिसका फर्श कंक्रीट का है और खिड़कियां चटकी हुई हैं। महिलाओं के शरीर से एक-एक कपड़ा उतरवा लिया जाता है। तलाशी महिलाएं लें तो ठीक लेकिन पुरुष सहकर्मी यह काम करते हैं।’

खान में काम करने वाले पुरुष स्टाफ के साथ भी इसी तरह से तलाशी ली जाती है लेकिन उनके साथ भद्दा व्यवहार नहीं किया जाता है। महिला ने बताया कि वर्कर्स की यूनिफॉर्म में कोई जेब भी नहीं है साथ ही पूरे प्लांट में सीसीटीवी कैमरा लगे हैं। कोई भी वर्कर 10 मिनट से ज्यादा टॉयलेट तक नहीं जा सकता। अगर कोई इससे ज्यादा समय रहता है तो उसे कई सवालों के जवाब देने पड़ते हैं। यह चेकअप साल 2006 से हो रहा है।

Loading...
loading...
Comments