चेहरे पर ब्लीिंचग लगाने जा रही हैं तो इन बातों का रखें ध्यान

आपको पार्टी में जाना है और चेहरे पर दाग ही दाग ऩजर आ रहे हैं, तो चेहरे को बेदाग और गोरा करने के लिये ब्लीिंचग एक सस्ता और जल्दी उपाय है। मगर आपको समझना होगा कि ब्लीिंचग क्रीम में काफी सारे कैमिकल्स होते हैं, जो चेहरे को नुकसान पहुंचाते हैं। अगर ब्लीिंचग क्रीम लगाने की आदि हैं तो आपको इसे लगाने से पहले कुछ बातों का ख्याल रखना होगा। साथ ही इसे लगाने के बाद त्वचा की किस तरह से देखभाल करनी चाहिये, ये भी पता होना जरुरी है।

आइये जानते हैं कुछ ऐसी ही बातें…

बार बार चेहरे पर ब्लीच करने से बचना चाहिये। महीने में एक बार ब्लीच करना सही होता है। ब्लीिंचग क्रीम को ठंडी और सूखी जगह पर रखना चाहिये। ब्लीच लगाने से पहले, उस जगह को हल्के साबुन और पानी से धो कर पोछ लें ब्लीच लगाने के बाद हल्की खुजली होती है लेकिन यह कभी दर्द भरा काम नहीं होता। त्वचा पर तेज और जलन हो, तो इसका मतलब है कि यह आपके चहरे पर अच्छी तरह से काम कर रही है।

त्वचा पर स्ट्रॉबेरी और दही लगाने के ये है फायदे

कभी भी गरम पानी से नहाने के बाद ब्लीच ना करें क्योंकि उस दौरान त्वचा संवेदनशील रहती है। ब्लीिंचग के बाद त्वचा को सांस लेने के लिये 6-8 घंटो के लिये वैसे ही छोड़ दें और उस पर कुछ ना लगाएं। रात में ब्लीिंचग करें तो ज्यादा अच्छा है। ब्लीिंचग के बाद सूरज की किरणों से कम से कम 24 घंटों के लिये दूर रहें।

हमेशा जरुरत अनुसार ब्लीिंचग क्रीम ही मिलाएं और उसमें कुछ भी ज्यादा या कम ना मिलाएं। ब्लीच करने से तुरंत पहले ही ब्लीिंचग क्रीम बनाएं। पैकेट पर दिये गए समय से ज्यादा ब्लीिंचग क्रीम को चेहरे पर ना रखें। 15 मिनट काफी रहते हैं। ब्लीच को आंखों के पास, आईब्रो पर, नाक के अंदर ना लगाएं। कटी, छिली या जली जगह पर इसे ना लगाएं। शेिंवग या आईब्रो बनवाने के बाद कुछ दिनों तक ब्लीिंचग ना करें। सभी प्रकार की सावधानी अपनाने के बावजूद अगर चेहरे पर लाल रंग के चकत्ते दिखाई दें या लंबे समय तक जलन महसूस हो तो, चेहरे पर नारियल तेल लगाएं। या फिर चेहरे को ठंडे पानी से धोएं और उस पर बरफ लगाएं।

Loading...
loading...
Comments